गुस्से में संजू सैमसन का यशस्वी जयसवाल को ‘अपने दिमाग का इस्तेमाल करें’ इशारा हुआ वायरल – देखें | क्रिकेट खबर

13
गुस्से में संजू सैमसन का यशस्वी जयसवाल को ‘अपने दिमाग का इस्तेमाल करें’ इशारा हुआ वायरल – देखें |  क्रिकेट खबर

आईपीएल 2024 के एलिमिनेटर मैच में राजस्थान रॉयल्स (RR) का सामना रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) से हुआ। इस मुकाबले में न केवल जोरदार क्रिकेटिंग एक्शन देखने को मिला, बल्कि RR के कप्तान संजू सैमसन की जोशीली लीडरशिप भी देखने को मिली। यशस्वी जायसवाल की फील्डिंग में चूक पर उनकी एनिमेटेड प्रतिक्रिया ने पहले से ही रोमांचक मुकाबले में ड्रामा का एक और स्तर जोड़ दिया।

एक उच्च दबाव की स्थिति

तनाव स्पष्ट था क्योंकि आरआर का लक्ष्य अपने अंतिम ओवर में आरसीबी को एक प्रबंधनीय कुल तक सीमित करना था। पहले गेंदबाजी करते हुए, आरआर ने आरसीबी के बल्लेबाजों पर अंकुश लगाया और उन्हें निर्धारित 20 ओवरों में 172/8 पर रोक दिया। मैच कांटे की नोक पर संतुलित था, दोनों टीमों को पता था कि हार का मतलब उनके आईपीएल 2024 अभियान का अंत होगा।

अपने शांत स्वभाव के लिए मशहूर सैमसन आरसीबी की पारी के अंतिम क्षणों में असामान्य रूप से उत्साहित दिखे। आखिरी ओवर में संदीप शर्मा की गेंदबाजी के कारण हर रन महत्वपूर्ण था। पहली गेंद पर बाउंड्री देने के बाद शर्मा को अपने क्षेत्ररक्षकों से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की जरूरत थी। हालांकि, यशस्वी जायसवाल की गलत फील्डिंग के कारण उन्हें एक और बाउंड्री गंवानी पड़ी, जिसके कारण सैमसन ने तुरंत और तीव्र प्रतिक्रिया व्यक्त की। कप्तान ने जायसवाल को “अपने दिमाग का इस्तेमाल करने” का संकेत दिया, जिसे सोशल मीडिया पर खूब शेयर किया गया।

असाधारण प्रदर्शन और महत्वपूर्ण क्षण

जयसवाल की क्षेत्ररक्षण त्रुटि के बावजूद, आरआर के गेंदबाजों ने अनुशासित प्रदर्शन किया। ट्रेंट बोल्ट असाधारण थे, उन्होंने अपने चार ओवरों में केवल 16 रन दिए और एक विकेट लिया। पिछले मैचों में संघर्ष करने वाले रविचंद्रन अश्विन ने लगातार गेंदों पर कैमरून ग्रीन और ग्लेन मैक्सवेल के महत्वपूर्ण विकेट लेकर अपनी लय हासिल की। अवेश खान ने भी महत्वपूर्ण योगदान दिया और 3/44 के आंकड़े के साथ समाप्त हुए।

जयसवाल की गलती के अलावा क्षेत्ररक्षण आम तौर पर तेज था। आरसीबी की गति को रोकने में रोवमैन पॉवेल के शानदार कैच महत्वपूर्ण थे। पावरप्ले में फाफ डु प्लेसिस को आउट करने का उनका डाइविंग प्रयास विशेष रूप से उल्लेखनीय था। युजवेंद्र चहल ने भी फॉर्म में चल रहे विराट कोहली को आउट करके अहम भूमिका निभाई, जो 24 गेंदों में 33 रन बनाकर खतरनाक दिख रहे थे।

आरसीबी की पारी शुरुआत की कहानी थी लेकिन कोई ठोस अंत नहीं हुआ। रजत पाटीदार (34), महिपाल लोमरोर (17 में से 32), और दिनेश कार्तिक (11) ने उपयोगी योगदान दिया, लेकिन कोई भी पारी को आगे नहीं बढ़ा सका। आरआर द्वारा अनुशासित गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण प्रयासों ने सुनिश्चित किया कि आरसीबी एक बड़ा स्कोर नहीं बना सके।

विश्लेषण और निहितार्थ

संजू सैमसन की जायसवाल की मिसफील्ड पर प्रतिक्रिया आईपीएल एलिमिनेटर मैचों की तीव्रता को रेखांकित करती है। ऐसे उच्च दबाव वाले खेलों में, बचाया गया या दिया गया हर रन संतुलन को बदल सकता है। सैमसन के नेतृत्व, उनके सीधे संवाद और भावुक व्यवहार से चिह्नित, ने टीम की सफलता के लिए उनकी प्रतिबद्धता को उजागर किया।

इस घटना ने यशस्वी जायसवाल को भी सुर्खियों में ला दिया है, जो एक प्रतिभाशाली युवा खिलाड़ी हैं, जिन्होंने अपार क्षमता दिखाई है, लेकिन अभी भी उन्हें सुधार की आवश्यकता है, खासकर दबाव में क्षेत्ररक्षण में। यह क्षण उनके लिए सीखने का अनुभव साबित हो सकता है, जो पूरे खेल में ध्यान केंद्रित रखने के महत्व पर जोर देता है।

आरसीबी के लिए, इस पारी ने उनकी बल्लेबाजी की गहराई को दर्शाया, लेकिन अच्छी शुरुआत को बड़े स्कोर में बदलने में असमर्थता महंगी साबित हुई। उनका मध्यक्रम संघर्ष करता रहा और अंतिम ओवरों में तेजी से रन बनाने पर निर्भरता अधिक स्थिरता और बेहतर शॉट चयन की आवश्यकता को दर्शाती है।


Previous articleयौन संचारित रोगों से दुनिया भर में हर साल 2.5 मिलियन लोगों की मौत होती है: संयुक्त राष्ट्र
Next articleएसआरएच बनाम आरआर ड्रीम11 भविष्यवाणी आईपीएल 2024 क्वालीफायर 2